क्या आपके भी स्‍तनों को छूने पर होता है दर्द? ये हो सकते है इसके कारण..

breast-pain
image sorce: youtube

एक नाजुक स्तन होना बहुत सामान्य है, और आप इस समस्या से जूझने वाले एकमात्र व्यक्ति नहीं हैं। लेकिन महिलाओं को यह समस्या क्यों होती है। लेकिन यह जानने के लिए कि महिलाओं को यह समस्या क्यों है, हमने शालीमार बाग के फोर्टिस अस्पताल में वरिष्ठ सलाहकार और स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ। उमा वैद्यनाथन से बात की।

ये स्तनों में दर्द और परेशानी का कारण हो सकते हैं

1. पीरियड्स होने से पहले स्तन में दर्द की समस्या होती है।
डॉ। वैद्यनाथन बताते हैं कि पीरियड्स होने के एक हफ्ते पहले ही ब्रेस्ट में दर्द शुरू हो जाता है। जब हम ओव्यूलेशन चरण में होते हैं, तो एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के स्तर में बदलाव होता है जिससे स्तन में दर्द और कोमलता होती है।

पीरियड्स से पहले भी स्तन में दर्द हो सकता है।

2. हार्मोनल असंतुलन
यहां तक ​​कि अगर आपके शरीर में हार्मोन असंतुलित हैं, तो आपको एक नाजुक स्तन की समस्या से निपटना पड़ सकता है। थायराइड हार्मोन संतुलन का मुख्य कारण है। यदि आपको हमेशा स्तन में दर्द होता है, तो अपने थायरॉयड की जांच करवाएं।

 

3. गलत फिटिंग ब्रा
अगर आपकी त्वचा पर आपकी ब्रा का निशान बन रहा है, तो आप गलत साइज की ब्रा पहन रही हैं। गलत फिटिंग की ब्रा पहनने से स्तन पर दबाव पड़ता है, जिससे स्तन में कोमलता आती है।

4. गर्भावस्था
गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में शरीर में कई हार्मोनल परिवर्तन होते हैं जो आपके स्तन में दर्द का कारण बन सकते हैं। यदि आपको हर समय तेज दर्द होता है, तो स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास जाएं।

5. तनाव भी एक कारण है
तनाव आपके स्तन दर्द का एक कारण भी हो सकता है। डॉ। वैद्यनाथन बताते हैं, “तनाव का हार्मोन पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए यदि आप बहुत अधिक तनाव में हैं, तो आपके स्तन दर्द करते हैं।” इसलिए तनाव से दूर रहना बहुत ज़रूरी है।

6. फाइब्रोसिस्टिक ऊतक
कभी-कभी हार्मोनल असंतुलन के कारण आपके स्तन के ऊतकों पर दुष्प्रभाव पड़ता है, जिससे न केवल स्तन में दर्द होता है, बल्कि उनका आकार भी बदल जाता है। हालांकि फाइब्रोसिस्टिक स्तन खतरनाक नहीं हैं, लेकिन डॉक्टर के पास जाना सबसे अच्छा उपाय है।

गलत फिटिंग ब्रा से भी स्तनों में दर्द हो सकता है।

इस समस्या का समाधान क्या हो सकता है?

स्तन के दर्द को कम करने के लिए भरपूर मात्रा में पानी पीने की सलाह दी जाती है। स्वस्थ जीवनशैली अपनाना, एक अच्छा आहार लेना और व्यायाम करना भी महत्वपूर्ण है। आपके सभी हार्मोन संतुलन में होंगे और आपको स्तन में कोमलता से राहत मिलेगी। अपने आहार से नमक की मात्रा भी कम करें। नमक का सेवन कम करें, खासकर ओव्यूलेशन से दस दिन पहले। विटामिन ई और ईवनिंग प्रिमरोज़ तेल का उपयोग करें, लेकिन पहले डॉक्टर से परामर्श करें। व्यायाम करते समय विशेष रूप से एक ही आकार की ब्रा पहनें।