इन राज्यों में लगा गया नाइट कर्फ्यू, लॉकडाउन की दिशा में फिर आगे बढ़ा देश?

नई दिल्ली। भारत में कोरोना के संक्रमण ने फिर से गति पकड़ ली है। कुछ रिपोर्टों में यह भी दावा किया गया है कि ठंड के दिनों में संक्रमित रोगियों की संख्या में वृद्धि हो सकती है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में, पिछले कई दिनों से इसके मामले लगातार बढ़ रहे हैं। कई राज्यों ने भी अपने बड़े शहरों में रात कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है।

मध्य प्रदेश के इंदौर, गुजरात के सूरत और राजकोट में 21 नवंबर की रात से कर्फ्यू लगा दिया गया है। इंदौर में, लोग अपने घरों को सुबह दस बजे से सुबह छह बजे तक नहीं छोड़ सकते। साथ ही, गुजरात के दोनों शहरों में इसकी समय सीमा सुबह 9 बजे से सुबह 6 बजे तक रखी गई है।

हालांकि, कारखाने में काम करने वाले श्रमिकों और आवश्यक सेवा में शामिल लोगों को रात के कर्फ्यू के दौरान छूट दी गई है। आपको बता दें कि कल इंदौर में कोरोना के 546 नए सकारात्मक मामले सामने आए हैं। इसके साथ संक्रमण का कुल आंकड़ा बढ़कर 37,661 हो गया है। दूसरी ओर, अगर हम गुजरात की बात करें तो कल यहां 1,515 नए मामले सामने आए। इसके साथ, यहाँ कुल कोरोना मामले 1,95,917 थे। इनमें 13,285 सक्रिय मामले हैं।

राजस्थान के 8 शहरों में रात का कर्फ्यू, अब मास्क नहीं लगाने पर 500 रुपये का जुर्माना

राजस्थान सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण रोगियों की बढ़ती संख्या के बीच संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित आठ जिला मुख्यालयों में रात का कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। इसके साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना बढ़ाकर 500 रुपये कर दिया गया है। राजधानी जयपुर में धारा 144 लागू कर दी गई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में शनिवार रात राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में ये निर्णय लिए गए। बैठक में ठंड और त्योहारी सीजन के कारण संक्रमण की बढ़ती घटनाओं को नियंत्रित करने के उपायों पर विचार-विमर्श किया गया।

बैठक में निर्णय लिया गया कि आठ जिला मुख्यालय (जयपुर, जोधपुर, कोटा, बीकानेर, उदयपुर, अजमेर, अलवर और भीलवाड़ा) के शहरी क्षेत्र के बाजार, रेस्तरां, शॉपिंग मॉल और अन्य वाणिज्यिक संस्थान संक्रमण से प्रभावित हैं। शाम 7 बजे तक खुला रहेगा इन आठ जिला मुख्यालयों के शहरी क्षेत्र में रात्रि 8 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू रहेगा। दूसरी ओर, मास्क न पहनने का जुर्माना 200 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये कर दिया गया है। हालांकि, इस दौरान शादी समारोह में जाने वाले लोग, दवाइयों सहित आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग और बस, ट्रेन और विमान में यात्रा करने वाले लोग यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी।

Share