करवा चौथ के दिन भारी पड़ सकती हैं ये गलतियां, भूलकर भी न करें ये काम

करवा-चौथ

पति की लंबी उम्र के लिए सुहागिन महिलाओं द्वारा करवा चौथ का व्रत रखा जाता है। इस दिन महिलाएं निर्जला व्रत रखती हैं और रात में चांद देखने के बाद ही इसे पास करती हैं। यह व्रत सूर्योदय से पहले शुरू होता है और चांद निकलने तक रखा जाता है।

इस व्रत के नियम बहुत कठिन हैं। इस बार का महापर्व करवाचौथ कई अच्छे संयोग लेकर आ रहा है। इस बार करवा चौथ पर सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ ही शिवयोग, बुधादित्य योग, सप्तकीर्ति, महादिग्य और सौख्य योग भी बन रहे हैं। शास्त्रों में इन योगों के महत्व के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है।

ये सभी योग बहुत महत्वपूर्ण हैं और वे इस करवा चौथ के महत्व को और अधिक बढ़ा देते हैं। विशेष रूप से सुहागिनों के लिए, यह करवा चौथ अखंड सौभाग्य देगा। इस बार करवा चौथ और पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 5:34 से शाम 6:52 बजे तक है। इस बार आप अपनी राशि के अनुसार करवा चौथ पर अपना श्रृंगार करें, फिर करवा महारानी आपको बहुत पसंद आएंगी।

आइए हम आपको बताते हैं कि कौन सा रंग और कौन सा मेकअप आपके लिए अच्छा रहेगा। आइए हम आपको बताते हैं कि करवा चौथ के व्रत के दौरान क्या नहीं करना चाहिए और करीबी ध्यान रखने के लिए क्या महत्वपूर्ण है।

मेकअप न दें
सुहागिन महिलाएं करवा चौथ पर श्रृंगार करती हैं। इस दिन 16 को सजाने का विधान है। शास्त्रों में कहा गया है कि इस दिन शहद और श्रृंगार का सामान किसी अन्य स्त्री को नहीं देना चाहिए। आप चाहें तो सुहाग की नई चीजें किसी को दान कर सकते हैं, जिससे योग्यता प्राप्त होती है।

एक क्विक के अलावा कुछ भी न खाएं
करवाचौथ पर सास-बहू की सरगी को शुभ माना जाता है। व्रत शुरू होने से पहले सास अपनी भाभी को कुछ मिठाई, कपड़े और श्रृंगार देती है। सरगी खाओ और भगवान की पूजा करके निर्जला की पूजा करने का संकल्प लो।

सफेद या काले कपड़े न पहनें
पूजा में भूरा और काला रंग शुभ नहीं माना जाता है। हो सके तो इस दिन केवल लाल रंग के कपड़े पहनें, क्योंकि लाल रंग प्यार का प्रतीक माना जाता है। आप चाहें तो पीले कपड़े भी पहन सकते हैं।

सो सदस्य मत उठाओ
इस दिन खुद को न सोने के अलावा महिलाओं को घर के किसी भी सोने वाले सदस्य को नहीं उठाना चाहिए। हिंदू शास्त्रों के अनुसार, करवाचौथ के दिन किसी सोए हुए व्यक्ति को नींद से उठाना अशुभ होता है।

पति का अपमान या अपमान करना
व्रत रखने वाली महिलाओं को अपनी वाणी पर नियंत्रण रखना चाहिए। महिलाओं को घर में किसी बड़े का अपमान नहीं करना चाहिए। शास्त्रों में कहा गया है कि करवा चौथ के दिन पत्नी को पति के साथ बिल्कुल भी झगड़ा नहीं करना चाहिए।

इन चीजों से बचें
करवा चौथ के व्रत का पालन करने वाली महिलाओं को तीखी चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। सुईवर्क न करें। कढ़ाई, सिलाई या बटन लगाना आज अच्छी बात नहीं है।

देर से सोएं नहीं
करवा चौथ के दिन देर से नहीं सोना चाहिए, क्योंकि व्रत सूर्योदय से शुरू होता है। दिन में सोने से बचें। स्नान के बाद पूजा करें, कथा सुनें और शाम को चंद्रमा देखने के बाद भोजन ग्रहण करें।

किसे उपवास रखना चाहिए
करवा चौथ का व्रत केवल सुहागिनें या महिलाएं ही ले सकती हैं, जिनका संबंध होता है। पति या मंगेतर के लिए उपवास करना बहुत फलदायी माना जाता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.